उत्तर प्रदेश और शिक्षा

शिक्षा स्तर में सभी राज्यो के मुकाबले में उत्तर प्रदेश शिक्षा का स्तर काफी निम्न है | अगर हम उत्तर प्रदेश में शिक्षा स्तर की बात करे तो महिलाए तथा बालिका आकलन 100% में से 30% है तथा पुरुषों तथा बालो में शिक्षा स्तर 100% में से 45% है | जिसमे की बाकि अशिक्षित लोग मजदूरी तथा खेती में कार्यरत है जिस्से राज्य में बेरोजगारी बढती जा रही है और 60% से ज्यादा लोग बेरोजगारी के शिकार है | इस बात का श्रय कही न कही उत्तर प्रदेश की सरकार को भी जाता है जिस्के यहा इतने अशिक्षित लोग है क्योकि ज्यादातर विधालय तथा स्कूल गाँवो से 5 से 10 मील की दूरी पर है |

सरकार को विधालय तथा स्कूलों पर ध्यान देना चाहिए और सभी स्थानों पर विध्यालय खुलवाने चाहिए तथा लोगो को शिक्षा की और जागरूक करना चाहिए जिस्से वे अधिक जागरूक , शिक्षित तथा रोज्गारित्त बने |

उत्तर प्रदेश में शिक्षा में अव्यवस्था के कई कारण है जैसे :
  • शिक्षको की भर्ती न होना इससे विध्यालयों में शिक्षको का पद रिक्त रह जाता है और शिक्षको की कमी हो जाती है |
  • कक्षाओ में बठने हेतु सीटे उपलब्ध नही होती जिस्से विध्यार्थियों को घर लोट जाना पड़ता है |
  • अव्यवस्थित समय विध्यालयों का लगना जिस्से न ही विध्यार्थी समय पर विध्यालय आते है और न ही शिक्षार्थी |
  • अशिक्षा का मुख्य कारण विध्यार्थियों का नकल करके पास होना जिस्से वे अपने भविष्य में कुछ करने योग्य नही बन पते |
  • विध्यार्थियों को पुस्तके विध्यालयों से प्राप्त नही हो पाती जिसको वे आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण बहार से भी नही खरीद पते |
  • विध्यार्थियों को विध्यालयों की तरफ से मिलने वाला खाना सही अनुपात में नही मिलपाता उसे बहार बेच दिया जाता है |
अशिक्षित होने के और भी इस प्रकार आदि कारण है |


संजय सिंह भारतीय जनता पार्टी द्वारा जेवर क्षैत्र से शिक्षा तथा अजीविका के मुद्दे को सुलझाने के लिए खड़े हो रहे है और शिक्षा के स्तर में वृधि करना चाहते है | शिक्षा मे सुधार के लिए उनके अनेक लक्ष्यों है : -
  • निकटतम स्थानों पर विध्यालय तथा उन्हो मे बुक लाइब्रेरी तथा प्रयोग हेतु लैब खुलवाएंगे जिस्से विध्यार्थी प्रयोगात्मक ज्ञान प्राप्त करवाना |
  • विध्यालयों में लाइट व पानी की व्यवस्था ठीक करवाना |
  • विध्यालय से घर तक के लिए संसाधान की व्यवस्था की सुविधाए प्राप्त करवाना |
  • सभी विध्यार्थियो को विध्यालय की तरफ से पुस्तके प्राप्त कराना |
  • सभी विध्यार्थियो को विध्यालयों की तरफ से स्कूल ड्रेस तथा उन्हें उनका विध्यालय से खाना समय पर दिलवाया जाएं तथा अदि कार्य शिक्षा के हित में किये जाएंगे |
संजय सिंह जी के द्वारा लिये गए शिक्षा सम्बन्धी संकल्प के साथ क्षैत्र की जनता को भी संकल्प लेना होगा की संजय सिंह जी के साथ मिलकर शिक्षा को जीताना होगा | जिस्से की संजय सिंह जी जनतंत्र के साथ मिलकर एक मजबूत शिक्षा तंत्र बना सके |

Comments

  1. sanjay singh dvara sikhsha chetra me uthaye gye mudde atyadhik srahniye hai....

    ReplyDelete
  2. शिक्षा की व्यवस्था के लिए इन बातों पर ध्यान देना जरूरी है तब ही एक शिक्षित प्रदेश बन सकता है |

    ReplyDelete
  3. uttar pardesh ek sikshit rajya hona chahea . sanjay singh ji up ko sikshit bnao

    http://sanjaysinghbjp.in/

    ReplyDelete
  4. padhega india tabhi to badhega india sanjay singh ji hum appke sath hae

    http://sanjaysinghbjp.in/

    ReplyDelete
  5. sanjay singh ji siksha ke sath baccho ko pustak ttha school dress bhi mile

    http://sanjaysinghbjp.in/

    ReplyDelete
  6. siksha ko kevl bjp hi bdha skti hae or sarkar nhi

    ReplyDelete
  7. ab tak to bhrstachar hi tmne ka name nhi le rha ...sp party sikshako to girarhi hae sanjay ji kuch kro

    ReplyDelete
  8. up me raj krne vali sarkar to bilkul hi bhekar hae kyo ki baccho ko nakl ka asra deti hae lekin bjp kuch kar skti hae

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

आदरणीय प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की विदेश यात्रा