नेपाल व प्राकृतिक आपदाएं



पृथ्वी के उत्तरी क्षेत्र नेपाल से शुरू हुए भूकम्प से नेपाल में बहुत भारी मात्रा में कम्पन आका गया हालाकि भूकम्प की चपेट में आए चीन , भारत , पाकिस्तान आदि देश है पर इस प्राकृतिक आपदा की शुरुवात नेपाल से हुई | जिस से यहा कई इमारते नष्ट हो गई | जिसमे की मुगल समय की मीनार मुगल राजाओ दुवारा बहुत मजबूती व कला संपन्न तरीके से बनवाई गई थी |वह भी इस भूकम्प की शिकार हो गई | इस देश में मीनार व मकान ही नही बल्कि 2000 हजार के लगभग लोग इस आपदा के शिकार हो गए है | और सड़के व भूमि विनाश भी काफ़ी हुआ है | यहा भूकम्प की तीव्रता 7.9 आकी गई यदि हम भारत की बात करे तो यहा भूकम्प की तीव्रता 6.6 आकी गई | यहा भी भूकम्प से काफी नुकसान हुआ है करीबन 200 लोग व कुछ इमारते ,मकान भी भूकम्प के शिकार हो गए है | पाकिस्तान व बांग्लादेश में भी कुछ नुकसान आका गया है | इन आपातकालीन दिनों में हमे भूकम्पीय राज्यों , देशो की मदद करनी चाहिए | हमारे भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने इन परस्थितियो से लड़ने के लिए लोगो को साहस व यह कहा कि यह प्राकृतिक आपदाएं मनुष्यों के हाथों में नही है | जो भी होता है भगवान की मर्जी से होता है | इसलिए हमे साहस से काम लेना चाहिए |हमने इस प्राकृतिक आपदा में कई लोग व पर्वतारोही खो दिए है | मोदी जी व सभी भाजपा कार्यकर्ताओ ने भूकम्पीय क्षेत्रों को मदद का आश्वासन दिया व नेपाल को आर्थिक साहयता व सभी प्रकार की साहयता का आश्वासन दिया |
मै संजय सिंह सभी प्राकृतिक आपदा में मरे लोगो को श्रध्दांजली अर्पित करता हूं और भगवान से उनकी आत्मा की शान्ति के लिए बारम्बार प्रार्थना करता हूं |

Comments

Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश और शिक्षा

आदरणीय प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की विदेश यात्रा